जावा प्रोग्रामिंग क्या है (What is Java Programming)?

0

जावा (Java) एक सामान्य ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड (object-oriented) प्रोग्रामिंग भाषा है जिसे सन माइक्रोसिस्टम्स (Sun Microsystem)द्वारा विकसित किया गया था। जावा एप्लीकेशन (Java Applications) को किसी जावा वर्चुअल मशीन (JVM) के माध्यम से ही संचालित किया जाना चाहिए क्योंकि जावा प्रोग्रामिंग (Java Programmimg) को किसी भी प्लेटफोर्म प्रोग्राम या ऑपरेटिंग सिस्टम के माध्यम से निष्पादन की अनुमति के लिए बाइटकोड (एक जावा प्रोग्राम के संकलित स्वरूप) को सबसे अधिक संकलित करते हैं। जावा प्रोग्राम किसी भी कंप्यूटर आधारित सिस्टम में चलाया जा सकता है, चाहे वो डेस्कटॉप एप्लीकेशन (Desktop Applications) हो या वित्तीय सेवा सिस्टम या बिग डेटा टेक्नोलॉजी (Big Data Technology) हो। जावा भाषा को सी ++ कंप्यूटर भाषा के समान “लुक और महसूस” करने के लिए डिज़ाइन किया गया था, हालांकि, यह उपयोग करने और काम करने के लिए तुलनात्मक रूप से सरल है|

जावा का अतीत (History of Java)

ग्रीन टीम(Green Team) नामक डेवलपर्स (Developers) के द्वारा सबसे पहले जावा को प्रोजेक्ट “ओक “(“OAK”) नाम दिया गया था |

टीम की कमान पैट्रिक नाथन (Patrick Naughton), माइक शेरिडन (Mike Sheridan) और जेम्स गोस्लिंग (James Gosling) के हाथ में थी| सन 1995 में सन माइक्रोसिस्टम्स द्वारा इसे जारी किया गया था, और जल्द ही जावा प्रोजेक्ट सन माइक्रोसिस्टम्स से भी अधिक प्रसिद्ध हो गया। पहले जावा संस्करण (1.0 और 1.1) 1996 में विंडोज (Windows), लिनक्स (Linux), मैक (Mac) और सोलारिस (Solaris) के लिए जारी किए गए थे।

आज दुनिया भर में 4.5 मिलियन पेशेवर जावा डेवलपर्स हैं। परिणामस्वरूप बाजार में ऐसे डेवलपमेंट उपकरण प्रचुर मात्रा में है जो जावा का उपयोग कर एप्लीकेशन विकास प्रक्रिया को आसान बनाने और साथ ही बेहतर कार्यक्षमता वाले एप्लीकेशन को डिज़ाइन करने के लिए जावा डेवलपर्स की एफिशिएंसी (Efficiency) में सुधार लाती है।

उपकरण जिनकी आपको ज़रूरत है (Prerequisites Tools)

  1.  जेडीके या जावा डेवलपमेंट किट(java Develoment Kit), जावा प्रोग्रामिंग के लिए पहला कदम है ज़िससे एप्लिकेशन (Applications) और एपलेट्स (Applets) विकसित किए जा सकते हैं। यह टूल (tool) जावा बिगिनर्स (Java beginners) की पहली आवश्यक होती है |
  2.  अपाचे लोग4 जे (Appache Log4j) डेवलपर्स के लिये ज़रुरी है क्यूँकी ये एप्पलिकेशन (Applications) में खामियां को ढूंढता है|
  3. Eclipse: जावा डेवलपर्स के अनुसार ईक्लीपस (Eclipse) सबसे अच्छा आईडीई (IDE) है। जावा टेस्टिंग टूल (Java Testing Too)l, मॉडलिंग टूल (Modeling Tools) और एक डेवलपमेंट फ्रेमवर्क फीचर (development framework feature) के साथ इसमें कई आधुनिक और नई विशेषताएं हैं।
  4. पोस्टमेन अपने उपयोगकर्ता के अनुकूल यूजर इंटरफेस के कारण बाकी एपीआई अनुरोधों को लिखना आसान करता है। कॉम्प्लेक्स कमांड एक फॉर्म को पूरा करके आसानी से बनाया जा सकता है
  5. नेट बीन्स अपने मॉड्यूल का उपयोग कर एप्पलीकेशंस को विकसित करने में मदद करता है।

जावा के पास जावा बजवर्ड्स (Java Buzzwords) जैसी विशेषताएं हैं, जो निम्नलिखित हैं |

  1. सरल(Easy): जावा भाषा बनाने का उद्देश्य कठिनाई को कम करना था, इसलिए डेवलपर्स ने इसे उपयोगकर्ता के अनुकूल और समझने में आसान बनाने का ध्यान रखा है।
  2. (ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड) Object Oriented: जावा शुद्ध ओओपी (OOP’s) भाषाओं का इस्तेमाल करता है, जो पूरी तरह से सुरक्षित है।
  3. पोर्टेबल: जावा बाइट कोड (Java Bytecode) को किसी भी सॉफ्टवेयर प्लेटफॉर्म पर ले जाया जा सकता है।
  4. रोबस्ट (Robust): जावा प्रोग्रामिंग को अत्यंत मजबूत कहा जाता है क्योंकि यह हार्डी मेमोरी प्रबंधन (Hardy Memory Management) का उपयोग करता है, यह असरदार तरीके से सुरक्षा समस्याओं को कम करता है
  5. वितरित (Distributed): जावा भाषा को एक “वितरित भाषा” (Distributed Language) कहा जाता है, क्यूँकी एक मशीन के सारे कंपाइलेशन (Compilation) आसानी से किसी अन्य प्लेटफ़ॉर्म पर स्थानांतरित किया जा सकता है

जावा संस्करण रिलीज और उनमे नया क्या है?

1995 में इसकी स्थापना के बाद से जावा भाषा में कई प्रगति (Advancement) और परिवर्तन हुए हैं।

1) जेडीके 1.0 (JDK 1.0): पहला मॉडल 1995 में जारी किया गया।

2) जेडीके 1.1: 1997 में जारी किया गया (JDK 1.1: Released in 1997), और कुछ मुख्य चीजे जोड़ी गयी जैसे कि जावाबींस (Javabeans), जेआईटी कंपाइलर (JIT Compiler), जेडीबीसी (JDBC), आरएमआई (RMI) आदि।

3) जावा 1.2 – 1998 में जारी किया गया (JDK 1.2: Released in 1998), मुख्य चीजे जो जोड़ी गयी वो स्ट्रिक्ट एफ पी कीवर्ड, जावा प्लग-इन, स्विंग ग्राफिकल एपीआई आदि थे।

4) जे 2 ऐस ई 1.3 – 2000 में जारी किया गया(J2SE1.3 – Released in 2000), जिसमे हॉटस्पॉट जेवीएम (Hotspot JVM), जावा प्लेटफार्म डिबगर आर्किटेक्चर (JPDA), जावास्वांस (javasound) इत्यादि जोड़ा गया।

5)जे 2 ऐस ई 1.4- 2002 में जारी किया गया (2SE1.4- Released in 2002), इस संस्करण में कीवर्ड (keyword), जावा वेब स्टार्ट (Java Web Start), एक्सेप्शन चेनिंग (Exception Chaining) इत्यादि के रूप में बहुत सारे एडिसन हुए।

6) जेएसई 5.0: कोडनाम टाइगर, 2004 में जारी किया गया था (JSE 5.0: Codenamed Tiger, it was released in 2004), इस रिलीज़ में 22 अपडेट्स (Updates) के साथ जेनरिक्स (Generics), मेटाडाटा (Metadata) जैसी सुविधाये जोडी गयी थी ।

7) जावा एसई 6: 2006 में रिलीज़ हुआ (JAVA SE 6: Released in 2006), प्रमुख संस्करण बदलाव में जेएएएसबी अपडेट (JAXB Update), 141 अन्य अपडेट्स के साथ स्क्रिप्टेड भाषा (Scripted lLanguage)का समर्थन शामिल है।

8) जावा एसई 7: 2011 में जारी (JAVA SE 7: Released in 2011), एक्सरेंडर पाइपलाइन (XRENDER PIPELINE), टिमसोर्ट (Timsort), एमएलएफएन अपडेट (MLFN update) और 121 अन्य अपडेट किये गए।

9) जावा एसई 8: 2014 में जारी हुआ (JAVA SE 8: Released in 2014), जिसमें 121 अपडेट और कई सिक्योरिटी फ़िक्स (Security Fix) शामिल थे।

10) जावा ऐस ई 9: 2016 में जारी किया गया (JAVASE 9: Released in 2016), नए फीचर्स जैसे कि जेशेल (Jshell), अहेड ऑफ़ टाइम कंपाइलेशन (Ahead-of-time Compilation) और एक्सएमएल कैटलॉग (XML catalogue)।

11) जावा का नवीनतम संस्करण जावा एसई 10 (JAVA SE10) है। इस अपडेट ने बड़े पैमाने पर अटकलों को आकर्षित किया है, मुख्यतः मूल्य के संभावित परिचय जैसे “ऑब्जेक्ट्स विथाउट आइडेंटिटी” (Objects Without Identity).

जावा प्रोग्रामिंग ने वास्तव में इंटरनेट भाषा प्रोग्रामिंग की दुनिया में क्रांति ला दी है, और भविष्य और वर्तमान उत्साही लोगों के लिए कार्यों को आसान बना दिया है।

Comments

comments

Comments are closed.